Friday, 4 March 2016

धन्यवाद ज्ञापन



धन्यवाद ज्ञापन

        परसों, 2 मार्च को यमुना प्रदूषण पर भाग-एक के अंतर्गत, “अथ श्री यमुना कथा ! या व्यथा !!” शीर्षक के अंतर्गत पोस्ट किया था, जिसे देहरादून से प्रकाशित साप्ताहिक पत्र, New Energy State के संपादक श्री गणेश प्रसाद जुयाल जी ने ज्यों का त्यों अपने पत्र में संपादकीय कॉलम के अंतर्गत प्रकशित करने योग्य समझा, साथ ही अपनी सम्पादकीय कलम से मेरे प्रति जो उदगार व्यक्त किये उससे अभिभूत हूँ. ज्ञातव्य है कि संपादक श्री जुयाल जी 1992-93 में मेरे छात्र रह चुके हैं, और लगन, ईमानदारी व परिश्रम से पत्रकारिता में संलग्न हैं. लम्बे समय के बाद फेसबुक पर ही उनसे मुलाकात हुई थी. आलेख प्रकाशन हेतु New Energy State परिवार व श्री जुयाल जी का हार्दिक धन्यवाद करते हुए यह भी कहना चाहूँगा, साथ  ही पाठक गानों का भी हार्दिक धन्यवाद..

No comments:

Post a Comment