Monday, 30 May 2016

मनोरम ही मनोरम




   मनोरम ही मनोरम        

        चलिए, उत्तराखंड की हरी भरी सुरम्य वादियों के स्वच्छ व शांत प्राकृतिक वातावरण में पर्यावरण मित्र बनकर कुछ दिन बिता आते हैं ..
      मेरा व्यक्तिगत अनुभव है कि आवश्यक नहीं कि उत्तराखंड में रहन-सहन की दृष्टि से अधिक खर्चीले व बहु प्रचारित भीड़-भाड़ वाले चुनिन्दा स्थलों की ओर ही रुख किया जाय !! आप अपेक्षाकृत कम खर्च में भी प्रकृति की गोद में भरपूर आनंद का अनुभव कर सकते हैं ..
       उत्तराखंड में हर जगह अपने आप में अनुपम है.. अनूठी छवि लिए हुए है ..प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर है .. जिस तरफ भी निहारियेगा .. मनोरम ही मनोरम पाइयेगा ..


1 comment:

  1. OnlineGatha One Stop Publishing platform From India, Publish online books, get Instant ISBN, print on demand, online book selling, send abstract today: http://goo.gl/4ELv7C

    ReplyDelete